यह हे भारत की आखरी सड़क।

यह हे भारत की आखरी सड़क।

आज के समय में दुनिया में ऐसी कई सारी जगह है जो आज भी एक रहस्य बनी हुई है । इन जगहों के बारे में ना तो ज्यादा कोई जानता है और ना ही किसी को यह सब जानने का मौका मिल पाता है । ऐसी जगहों पर केवल नाम मात्र के लोग ही पहुंच पाते हैं । हर किसी को ऐसी जगहों पर जाकर रहस्य को सुलझाने का मौका नहीं मिलता । आज हम एक ऐसे ही जगह के बारे में बात करने जा रहे हैं ।

 

 

तमिलनाडु के पूर्वी तट पर रामेश्वरम के किनारे स्थित इस जगह का नाम है धनुष्कोड़ी । यह वास्तव में एक गांव है । यह जगह कई मायनों में काफी रहस्यमई है । कई लोग तो इस जगह को भूतिया भी करार देते हैं । यह जगह इतनी रहस्यमई है कि जो लोग यहां घूमना चाहते हैं उन्हें केवल यहां पर दिन में ही घूमने की इजाजत दी जाती है । इस जगह पर रात में घूमना सख्त मना है । अंधेरा होने से पहले लोगों से बोल दिया जाता है कि वह इस जगह को खाली कर दें ।

 

 

रात के समय यह इलाका पूरी तरह से सुनसान हो जाता है । धनुषकोडी रामेश्वरम से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है । कई लोग ऐसा भी मानते हैं कि धनुष्कोड़ी ही वह जगह है जहां पर राम सेतु बनाने का कार्य शुरू किया गया था । लोग ऐसा मानते हैं कि इसी जगह पर खड़े होकर भगवान राम ने हनुमान जी को राम सेतु बनाने का आदेश दिया था ।

 

आप यह जानकर हैरान हो जाएंगे कि इतनी डरावनी और सुनसान जगह पर भगवान राम के कई सारे मंदिर हैं । कई लोग ऐसा भी मानते हैं कि , विभीषण के कहने पर भगवान राम ने अपने धनुष के एक सिरे से पुल को तोड़ दिया था। तभी से इस जगह का नाम धनुषकोडी पड़ गया था । आपको इस के बारी में और माहिती हे तो आप हमे कॉमेंट में बता सकते हे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.