90s के बच्चों के बचपन की उस फैशन से नफरत करना आज बना सेलिब्रिटी का स्टाइल

भारतीय संस्कृति में 80 और 90 के दशक में पैदा हुए बच्चों के एक अलग ही मायने हैं। इन लोगों के मन में यह भावना और विचार हमेशा रहता है कि वह लोग सबसे खुशकिस्मत हैं, क्योंकि उन्होंने लोगों की एक विचारधारा को बदलने के बीच में कड़ी की तरह काम किया है। इन लोगों ने इंटरनेट से लेकर मोबाइल फोन तक हर चीज को अपनी आंखों के सामने आते देखा है।

आज के समय अगर फैशन ट्रेंड्स की बात करें तो उस समय के कुछ ऐसे ट्रेंस हैं जिन्हें बच्चे काफी नापसंद करते थे और उन्हें देखकर ही नफरत होती थी, लेकिन आज एक बार फिर से ट्रेंड में आ गए हैं। आज आपको इस आर्टिकल के माध्यम से कुछ ऐसे ही डिजाइन और फैशन के बारे में बताते हैं जो लोगों को काफी बुरी लगा करती थी लेकिन आज 20 से 30 साल बाद यह फैशन फिर से ट्रेंड में आ गई है।

भारतीय समाज एक बार फिर से पुराने ट्रेंस को वापस अपना रहा है, फिर चाहे वह सिमरी आईशैडोज हो, ग्लौसी लिप्स या फिर ब्राउन कलर पैलेट के लिप कलर्स सब की वापसी हो चुकी है। आज फैशन ट्रेन समय भी काफी ऐसी चीजें हैं जो बचपन में बिल्कुल पसंद नहीं थी। अगर आपका जन्मदिन 80 और 90 के दशक में हुआ है और मिडिल क्लास परिवार में पैदा हुए हैं तो आपके घर वालों ने आपको बचपन में काफी बड़े और ढीले ढीले कपड़े ही पहने होंगे इसके पीछे ज्यादातर लोगों का है उधर से होता था कि यह कपड़े आपके कुछ सालों तक आराम से चल रहे हैं।

इसके बाद उनके छोटे भाई बहनों के काम में भी आ जाएंगे उस वक्त लोगों को यह बात बिल्कुल भी पसंद नहीं आती थी। आज वही कपड़े लोग हजारों रुपए देकर खरीद रहे हैं और कुल दिखने की कोशिश कर रहे हैं सेलिब्रिटी भी ऐसे ही कपड़े पहने नजर आते हैं। दूसरी तरफ चिपके और चिकने वालों की बात करें तो बचपन में हमारे बाल हमेशा तेल में डूबे रहते थे और एकदम चिपके रहते थे जो हमें बिल्कुल पसंद नहीं आता था। लेकिन आज एक बार फिर से यह ट्रेंड बन चुका है।

80 और 90 के दशक में लड़कियों को दो चोटियां बनाकर ही स्कूल भेजा जाता था लेकिन उन्हें यह बिल्कुल पसंद नहीं था। इस चीज से लड़कियों को काफी नफरत होती थी लेकिन आज एक बार फिर से दो चोटियां बनाने का ट्रेन बहुत जोर शोर से चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.