टाटा मोटर्स ने नेनो को बना दिया इलेक्ट्रिक कार।

टाटा मोटर्स ने नेनो को बना दिया इलेक्ट्रिक कार।

 

 

टाटा मोटर्स ने आम लोगों को पर्सनल कार की सुविधा देने के लिए नैनो कार लॉन्च की थी. इसे लखटकिया कार के रूप में जाना गया. हालांकि मार्केट में इस कार को खास सफलता नहीं मिल पाई और अंतत: इसका प्रोडक्शन बंद कर दिया गया.टाटा मोटर्स ने भले ही लखटकिया कार के नाम से फेमस नैनो का प्रोडक्शन बंद कर दिया है, लेकिन यह कार अभी भी ऑफरोड नहीं हुई है.

 

रतन टाटा की इस ड्रीम कार को उनकी कंपनी ने हाल ही में नया कलेवर दिया है. जब रतन टाटा को बदले कलेवर में नैनो डिलीवर हुई, तो वह खुद को सैर पर निकलने से नहीं रोक पाए.इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के लिए पावरट्रेन बनाने वाली कंपनी इलेक्ट्रा ईवी ने लखटकिया कार को कस्टमाइज कर इलेक्ट्रिक कार का रूप दे दिया. कंपनी ने खुद ही इसकी जानकारी LinkedIn पर दी.

 

 

कंपनी ने बताया कि उसके फाउंडर रतन टाटा को न सिर्फ यह कार पसंद आई, बल्कि उन्होंने नैनो ईवी की सवारी का भी आनंद लिया. कंपनी ने कहा कि रतन टाटा को 72V Nano EV डिलीवर करना और उनका फीडबैक हासिल करना ‘सुपर प्राउड’ फीलिंग है.नैनो ईवी की 4 सीटों वाली कार है और इसकी रेंज 160 किलोमीटर तक है.

 

यह कार 10 सेकेंड से कम समय में जीरो से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ लेती है. इसमें लिथियम आयन बैटरी का इस्तेमाल किया गया है. टाटा मोटर्स का इस कार के बारे में कहना है कि यह रियल कार वाली फील देती है. मॉडर्न ग्राहकों को पर्यावरण के अनुकूल पर्सनल ट्रांसपोर्टेशन मुहैया कराने के प्रयास में किसी भी चीज से समझौता नहीं किया गया है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.